Breaking News
Home / देश / Knowledge : सभी कंस्ट्रक्शन साइट्स को छिपाने के लिए हरे रंग के कपड़े का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?

Knowledge : सभी कंस्ट्रक्शन साइट्स को छिपाने के लिए हरे रंग के कपड़े का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?

दोस्तों, कई बार हम अपने आस-पास की कुछ साधारण चीज़ों पर ध्यान नहीं देते। और उनके पीछे कुछ रहस्य हो सकता है। यह भी नहीं जानते। दुनिया में कई ऐसी चीज़ें है, जिनका रहस्य जानने के बाद आप बोल उठेंगे अमेजिंग ! तो आइये आज ऐसी ही कुछ अमेजिंग सवाल और उसके जवाब जानते हैं।

सवाल 1 : दुनिया का ऐसा कौन सा देश है जहाँ ‘समोसा’ जैसे भोजन को खाना प्रतिबन्ध किया गया है और ऐसा करने का कारन क्या है ?

जवाब : साल 2011 से ही ‘सोमालिया’ नाम के देश में समोसा खाने पर बैन लगा दिया गया है। ऐसा इसलिए क्योकि इस देश के एक धार्मिक गुरु का कहना है कि उनके पवित्र चिन्ह का आकार बिल्कुल एक समोसे की तरह है। और यही कारण है कि अपने इस चिन्ह की पवित्रता को बनाये रखने के लिए यहाँ पर लोगों को समोसा खाने पर बैन कर दिया गया है।

सवाल 2 : ‘हंसने की आवाज’ को सबसे पहले कब और कहाँ रिकॉर्ड किया गया था ?

उत्तर : लाफिंग साउंड को सबसे पहले साल 1950 में यूनाइटेड किंगडम के एक थिएटर के अंदर बहुत बड़े पैमाने पर बड़े-बड़े माईक्स लगाकर रिकॉर्ड किया गया था।

सवाल 3 : एशिया महादेश की सबसे काम आयु वाली उस लड़की का नाम बताये, जिसने तंज़ानिया में माउंट क्लिन्गारो पर चढ़कर विजय प्राप्त किया है?

जवाब : यह लड़की भारत के आंध्र प्रदेश राज्य की रहने वाली है। इसका नाम ‘ऋतविका श्री ‘ है। और यह केवल नौ साल की है।

सवाल 4 : कस्ट्रक्शन साइट्स को ढ़कने के लिए हरे रंग के कपड़े का ही इस्तेमाल क्यों किया जाता है ?

जवाब : किसी ईमारत के कंस्ट्रक्शन के समय उसको हरे रंग के कपड़े से ढक दिया जाता है। ईमारत को ढ़कने का मकसद सड़क पर चल रहे लोगों और सवारियों को धुल-कण से बचाना होता है। क्यूंकि हमे हरा रंग बहुत दूर से ही दिखाई देने लगता है। और रात के समय थोड़ी रौशनी में ही यह रिफ्लेक्ट होकर हमे साफ़-साफ़ नज़र आता है। इसी कारणवश किसी कंस्ट्रक्शन साइट को ढ़कने के लिए केवल हरे रंग के कपड़े का ही इस्तेमाल किया जाता है।

सवाल 5 : वह कौन सा देश है जहाँ बिजली उत्पादन के लिए एक बहुत ही गजब तरीके का कानून बनाया गया है ?

जवाब : जैसा की हम सभी जानते हैं की अक्सर एयरपोर्ट्स पर लैपटॉप या मोबाइल फ़ोन चार्ज करने में अच्छा ख़ासा बिजली खपत हो जाता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए ‘बेल्जियम’ ने ब्रुसेल्स एयरपोर्ट पर ‘इलेक्ट्रिसिटी जनरेटिंग साइकिल’ की व्यवस्था की है। यहाँ पर यदि आप अपना लैपटॉप या मोबाइल चार्ज करना चाहते हैं तो, तो उसके लिए आपको इस ‘इलेक्ट्रिसिटी जनरेटिंग साइकिल’ पर साइकिलिंग करनी होगी। इससे आपका मोबाइल भी आसानी से चार्ज हो जायेगा, और बिजली खपत की समस्या भी समाप्त हो जाएगी।

डि‍सक्‍लेमर: यह न्‍यूज वेबसाइट से म‍िली जानकार‍ियों के आधार पर बनाई गई है. Ek Bharat अपनी तरफ से इसकी पुष्‍ट‍ि नहीं करता है.

About Ek Bharat

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!